मुख्य सामग्री पर जाएं | मनपसंद में जोड़े | Change Language
भारतीय रेलवे की हरित ऊर्जा पहल
Emb
irgreenri

भारतीय रेल में डीईएलपी के अंतर्गत एलईडी लैंप वितरण

डीईएलपी योजना के अंतर्गत रेल कर्मचारियों के लिए एलईडी बल्ब योजना का कार्यान्वयन:

ऊर्जा मंत्रालय , डीईएलपी के अंतर्गत व्यापक रूप से लोगों को मेसर्स एनर्जी एफिशिएंसी सर्विस लिमिटेड(EESL) के माध्यम से 7 वाट के ऊर्जा वाले एलईडी बल्ब के वितरण की सुविधा उपलब्ध करा रहा है। यह लाभ रेल कर्मचारियों को भी मिल सकेगा।

एलईडी लैंप की सुविधा उपलब्ध कराने की ऐसी एक प्रक्रिया डीजल रेल कारखाना/वाराणसी में प्रारंभ की गई और उसके बाद ईईएसएल द्वारा सभी स्थानों पर उपलब्ध कराई गई। ऊर्जा वाले एलईडी बल्ब के वितरण की योजना भारतीय रेल के सभी स्टेशनों के सभी कर्मचारियों के लिए बनाई गई है।

ऊर्जा वाले एलईडी बल्ब के प्रयोग से ऊर्जा की काफी बचत होती है और इससे प्रत्येक घर के बिजली बिल में भी कमी आती है। इसी प्रकार रेल व्यवस्था के ऊर्जा लोड में भी कमी की जा सकती है। 3 माह में क्षेत्रीय रेलों पर रेल कर्मचारियों द्वारा 1.5 लाख से अधिक एलईडी बल्ब खरीदे गए हैं.

डीईएलपी योजना के अंतर्गत खरीदे गए एलईडी लैंप की स्थिति:

ऊर्जा मंत्रालय , डोमेस्टिक एफिशिएंट एनर्जी प्रोग्राम (डीईएलपी) के अंतर्गत लोगों को मेसर्स एनर्जी एफिशिएंसी सर्विस लिमिटेड(EESL),ऊर्जा मंत्रालय के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रंम की सहयोगी कंपनी के माध्यम से 7 वाट के ऊर्जा वाले बल्ब के वितरण की सुविधा उपलब्ध करा रहा है । इस योजना के अंतर्गत, आईएसएल से थोक में एलईडी बल्ब खरीदे जा रहे हैं और रेल कर्मचारियों के लिए इसकी कीमत 100/- रू. होगी (जबकि बाज़ार में इसकी कीमत 250-300 रू. है)। ईईएसएल, वैध पहचान पत्र रखने वाले प्रत्येक रेल कर्मचारी को 100/- रू. वाले 10 एलईडी बल्ब देगी।

महाप्रबंधक/पश्चिम रेलवे द्वारा दिनांक 10.09.2015 को इस योजना का शुभारंभ किया गया और पश्चिम रेलवे पर इसे 31.10.2015 तक पूरा कर लिया जाएगा। अब तक पश्चिम रेलवे पर 15251 एलईडी लैंप बांटे जा चुके हैं।